तुलसी के चमत्कारी गुण

तुलसी का पौधा भारत के लगभग हर एक घर में पाया जाता है, इसे हम पवित्र मानते है और इसकी पूजा भी करते है, लेकिन यह केवल हमारी आस्था का प्रतिक नहीं है, बल्कि इस पौधे में कई औषधीय गुण भी मौजूद होते है।
आयुर्वेद में भी इसके कई उपयोग बताये गए है जिससे की हमे रोगो से लड़ने में सहायता मिलती है और ये हमे डॉक्टर के पास जाने से भी बचाती है। सबसे बड़ी बात यह है की तुलसी का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता, और इसका उपयोग किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है।
तुलसी में गजब की रोगनाशक शक्ति होती है, विशेषकर सर्दी, खासी और बुखार में यह अचूक दवा का काम करती है, यह कई बिमारियों के लिए एक हर्बल उपचार है, ये एक जीवाणु नाशक के रूप में भी काम करती है।

आमतौर पर तुलसी की पत्तिया बीज और सुखी जड़े ही इस्तेमाल की जाती है, तो आईये जानते है की इसके क्या-क्या फायदे है और इसका उपयोग किस-किस तरह से किया जा सकता है।

  • चेहरे को चमकाती है –

    त्वचा संबधी रोगो में इसका उपयोग बहुत ही फायदेमंद है, इसके इस्तेमाल से कील मुहासे खत्म हो जाते है और चेहरा चमकने लगता है।

  • बुखार को ठीक करती है –

    बुखार आने पर दो कप पानी में एक चम्मच तुलसी की पत्तियों का पाउडर और एक चम्मच इलायची पाउडर मिलाकर उनको उबाल ले और उनका काढ़ा बनाले, दिन में दो से तीन बार ये काढ़ा पिए और चाहे तो स्वाद के लिए इसमें दूध और चीनी भी मिला सकते है।

  • गुर्दे की पथरी निकलने में सहायता करती है –

    तुलसी गुर्दे को मजबूत बनती है, यदि किसी के गुर्दे में पथरी हो गयी हो तो उसे शहद में मिलाकर तुलसी के अर्क का नियमित सेवन करना चाहिए, इससे कुछ ही महीने में पथरी की समस्या दूर हो जाएगी।

  • ह्रदय रोग को ठीक करती है –

    तुलसी शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाती है ऐसे में ह्रदय रोगियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, इससे ह्रदय के सभी रोग दूर हो जाते है।

  • त्वचा के रोग दूर करती है –

    दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं में, तुलसी के अर्क को प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनों में रोग दूर हो जाता है। तुलसी की ताजा पत्तियों को संक्रमित जगह पर अवश्य लगाए इससे इन्फेक्शन ज्यादा नहीं फेल पाएगा।

  • आँखों की समस्या को दूर करती है –

    आँखों की जलन में इसका अर्क बहुत ही फायदेमंद होता है, रात में रोजाना श्यामा तुलसी के अर्क की दो बुँदे आँख में डालने से आँखों की जलन दूर होती है।

  • कान का दर्द ठीक करती है –

    तुलसी के पत्तो को सरसो के तेल में भून लीजिये और लहसुन का रास मिलाकर कान में डाल ले, दर्द में तुरंत आराम मिलेगा।

  • धूम्रपान छुड़ाने में मदद करती है –

    तुलसी अपने एंटी-स्ट्रेस गुणों के लिए भी जानी जाती है, यह इंसान के शरीर के तनाव को काम करती है इसीलिए धूम्रपान छुड़ाने में भी सहायक होती है।

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आये तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिये और हमे भी कमेंट करके अपनी राय जरूर बताएं। फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए, हमारा फेसबुक पेज लाइक करे। 

प्रातिक्रिया दे