सुबह उठने में अगर आता है आलस तो इन टिप्स को जरूर पढ़े

सुबह सुबह उठना किस को अच्छा लगता है?

किसी को भी नहीं। सुबह की जो नींद होती है वो कोई किसी भी वजह से डिस्टर्ब नहीं करना चाहता है।

क्या आप भी सुबह उठने और घूमने जाने के लिए कई तरह योजना बना चुके है और हर बार आप आलस करके अपनी योजना को फ़ैल कर चुके है?

मैं भी ऐसा ही करती थी, और कोई न कोई शरीर में परेशानी बनी रहती थी। कभी हाथ-पैर दर्द करना, सर दर्द होना, शरीर में दर्द बना ही रहता था। जब से मेने अपना सुबह का डेली रूटीन बनाया था तब से में अपने शरीर में काफी बदलाव और हल्का महसूस करने लगी थी।

सुबह उठते ही आलस्य कैसे भाग जाए हम आज डिस्कस करते है-

  • डेली रूटीन बनाने से पहले अपने आप में ये आत्मविश्वास जरूर ले आए की आप अपने शरीर को हमेशा स्वस्थ रखने के लिए आज से ही प्रयत्न शुरू करेंगे।
  • रात को सबसे पहले तो आप समय पर सो जाए ताकि सुबह उठने के लिए आपकी नींद जरूर पर्याप्त रहे। मोबाइल में अलार्म क्लॉक लगा के जरूर सोए।
  • आपको सुबह जब भी अलार्म के बजने की आवाज सुनाई दे तुरंत उठ जाए और अपनी हथेलियों को देख नमन करे भगवान का नाम भी ले सकते है।
  • आप जैसे ही बिस्तर से उठते है तो आप अपने बिस्तर को समेटना बिल्कुल भी न भूले। ऐसा करने से आपको आकर काम भी नहीं रहेगा और आलस्य भी भाग जाएगा आपकी नींद भी अच्छी तरह से उड़ जाएगी।
  • अब आप किचन में जाकर पानी गर्म कीजिये आपके पिने के लिए। सुबह गुनगुना पानी पीना आपकी सेहत के लिए काफी अच्छा रहता है।
  • फिर आप पानी पीजिये मगर वो भी बैठकर। हमे जब भी पानी पीना हो हमेशा बैठ कर ही पिए इससे घुटनो के दर्द की समस्या कभी भी नहीं होगी।
  • अब आप ब्रश कर लीजिये और अच्छे से मुँह धो लीजिये।
  • अब आप अपने शरीर और दिमाग से बिलकुल घूमने जाने के लिए तैयार है।
  • अगर आप पहली बार ही घूमने जा रहे है तो कोशिश करे धीरे चले और कम घूमे। मैं ऐसा इसीलिए बोल रही हूँ क्यूंकि आपको अगले दिन के लिए भी एनर्जी बचाना है अगर आप आज ही थक जाएंगे तो कल फिर आप घूमने नहीं जा पाएंगे।
  • अब आप घूमने निकल ही गए है तो रास्ते में जहां भी नीम का पेड़ आए आप जरूर एक नीम की पत्ती खा ले यकीन मानिये आप जिंदगी भर स्वस्थ रहेंगे। मगर एक पत्ता आपको रोज खाना है।
  • आप घूम कर वापिस घर आए तो सोए तो बिलकुल भी नहीं या तो आप योग करिये या फिर आपका कोई भी घरेलु काम हो आप वो कर सकते है। सोने से तो आपकी सारी मेहनत ही बेकार जाएगी।

आपको ये डेली रूटीन का एक पार्ट बताया गया है वो भी सुबह सुबह का। ये ही वो वक़्त है जो हमारा दिन भर सुधार भी और बिगाड़ भी सकता है। इसीलिए आप इस वक़्त में आलस्य को त्याग दे और सुबह जल्दी उठ कर अपने पुरे दिनभर को और अपनी पूरी जिंदगी को खुशनुमा बनाए।
आपको यह सभी बाते फॉलो करने में वक़्त जरूर लगेगा मगर एक बार आप सभी कुछ ठीक से करने लगे तो आप खुद को बहुत ही अच्छा महसूस करेंगे और चाह के भी नियम नहीं तोड़ेंगे।

अगर आपको हमारी यह आर्टिकल अच्छी लगे तो कमेंट करके जरूर बताए।

 

प्रातिक्रिया दे