लड़कियां खुद अपनी ताकत है अपने आप को कभी कमजोर न समझे।

आज हम बात करते है नारी अस्तित्व की। नारी की शक्ति को आज तक हर कोई सलाम करता आया है हमारे देश की कुछ महिलाएं तो मिसाल है और हमारी आइडियल भी। हमे कभी किसी से डरने की जरूरत नहीं है अगर हम अपने आप को अपनी ही ताकत समझ ले।

आजकल की महिलाएं आत्मनिर्भर है वह अपने कामो को अब खुद करती है किसी पर कोई बोझ नहीं बनना चाहती और यह सोच अच्छी भी है। नारी आज अपनी एक नई पहचान को समाज में ला रही है और समाज भी महिलाओ को साथ लेकर उठ रहा है। अब महिलाएं पुरुषो पर ज्यादा निर्भर नहीं रहती है।

लड़कियां खुद अपनी ताकत है:

  • पहले महिलाएं बस घर में सजाए रखने की साजो सामान की तरह थी उन्हें अपनी जिंदगी जीने का कोई हक़ नहीं था उनकी जिंदगी बस एक ही बंद कमरे में सिमट कर रह जाती थी। मगर समय बदला और ये महिलाओ ने ही बदला है और अब महिलाएं पुरुषो के साथ कदम से कदम मिलाकर बाहर भी काम करती है और साथ ही साथ घर और बच्चो को भी संभालती है।
  • अब तो लड़कियों को भी लोगो ने बोझ समझना कम कर दिया फिर भी में यह नहीं कहूँगी की लड़की होने पर खूब जश्न मना रहे है क्यूंकि लोगो की सोच हम नहीं बदल सकते मगर उनको अपनी सोच बदलने की खूब जरूरत है। लड़की बोझ नहीं बल्कि भगवान का खूबसूरत दिया हुआ एक तोहफा है।
  • महिलाए अब रोज कुछ न कुछ नया सिखने को तत्पर रहती है।
  • अब पेरेंट्स भी लड़कियों को खूब आजादी, उन्हें खूब महंगी से महंगी पढ़ाई, शोक मौज पुरे करने में कोई भी कमी नहीं रख रहे है। क्युकी वो एक बेटी एक औरत की अहमियत जानते है क्यूंकि अगर आज उनकी बेटी आत्मनिर्भर बनेगी तो उन्हें उसके कल की चिंता जरूर कम हो जाएगी।
  • कभी किसी दबाव में न रहे बल्कि हर मुश्किल का सामना डट कर करे।
  • आप खुद अपनी ताकत है कभी किसी घरेलु हिंसा को बिलकुल भी न सहे। हिंसा करने वाले से सहने वाला बड़ा गुनहगार होता है।
  • मुश्किलें और चुनोतियो को अवसर समझे। चुनोतियो से घबराए नहीं बल्कि डट कर सामना करे।
  • आप अपने लिए वक़्त जरूर निकाले अपने आप को समय देना बहुत ही जरूरी है।

आप लड़कियां खुद अपनी ताकत है, कभी भी आप इस बात को न भूले। आप अपने आप में इतना आत्मविश्वास रखे की कोई आपसे जीत न पाए और आत्मनिर्भर बनी रहे क्यूंकि यह आपके अस्तित्व के लिए बहुत ही जरूरी है।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगे तो आप कमेंट करके बताए और शेयर करना बिलकुल भी न भूले।

 

 

प्रातिक्रिया दे