रसोई के सामानों को खराब होने से कैसे बचाए

मानसून का मौसम आ गया है अब हमें अपने रसोई में स्टोर किये हुए दाल, चावल, पोहे, सूजी, मसाले, मैदा बहुत सी ऐसे सामान है जिनके खराब होने का डर हमें लगा रहता है। मौसम में नमी रहने की वजह से हम इन सामानों को धुप नहीं दिखा पाते और यह रखे हुए ही खराब हो जाते है जिन्हे हम काम में नहीं ले पाते।

चलिए आज हम जानते है कि इस परेशानी का सामना कैसे करे जिससे हमारे स्टोर किया हुआ रसोई का किराना खराब न हो –

  • सूजी और मैदा को हमेशा ठंडी जगह रखे या फिर इसे हमेशा ही फ्रिज में रखे।
  • चीनी भी हम बहुत ज्यादा मात्रा में स्टोर करके रख लेते है जिससे उनमे लाल-काली चींटी आने लगती है जिससे हमें तकलीफ आ जाती है। आप चीनी में लोंग या फिर काली मिर्च डाल कर रखे जिससे आपकी चीनी में न तो कोई चींटी न ही कोई कीड़े आएँगे।
  • उड़द या मुंग दाल या जो भी छिलके वाली दाल हो उसमे हमेशा नमक मिला के और साफ करके रखे और काली मिर्च भी हम डाल के रख सकते है। यकीनन आपकी दाल कभी ख़राब नहीं होगी।
  • दालों में कीड़े नहीं लगे उसके लिए आप कैस्टर ऑइल की कुछ बुँदे डाल दे।
  • चावल सफ़ेद रंग के होते है और इसमें कीड़े भी सफ़ेद रंग के ही पड़ते है। जिसे साफ करना हमारे लिए काफी मुश्किल होता है और ज्यादा वक़्त हमारा इसे ही साफ करने में लग जाता है। इसीलिए आप जब भी आपके कंटेनर में चावल भरे तभी आप उसमे नीम की पत्तिया डाल दे ताकि उसकी कड़वी महक से ही कीड़े पड़ते नहीं है और हो तो मर जाते है।
  • गेंहू को सुरक्षित रखने के लिए उसमे आप प्याज रख दे। 1 क्विंटल गेहूं में आधा किलो प्याज मिलाएं। सबसे पहले प्याज को नीचे रखें और फिर बीच में, इसके बाद सब से ऊपर रखें इससे गेहूं में कीड़े नहीं आएंगे।
  • पुराने अनाज में कभी नया अनाज नहीं मिलाने चाहिए। ककी अगर पुराने राशन में एक कीड़ा भी है तो नए राशन को भी बहुत जल्द ख़राब कर देता है।
  • प्लास्टिक का कंटेनर अनाज रखने के लिए उपयुक्त रहता है. जिस स्थान पर आप कंटेनर रख रहे हैं, वहां पहले चारकोल बिछा लें इस से अनाज कीड़ों से सुरक्षित रहता है।
  • बैद्यनाथ की पारद टैबलेट आमतौर पर घरों में राशन में डालने के लिए  इस्तेमाल की जाती है। 1 क्विंटल में इस की 4-5 गोलियां डालें। आप इसे दालों में, चावल में, पोहे में सभी अनाज में डाल कर रख सकते है।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगे तो कमेंट करके जरूर बताए।

प्रातिक्रिया दे