अनकही बातें

कितनी अनकही बातें होती है न हम लड़कियों के पास ?

लड़कियों के पास न जाने कितनी अनकही बातें होती है जो न वो अपने पति से न अपने ससुराल वालो से और कभी कभी तो अपने माँ पापा से भी नहीं कह पाती है। लड़कियों की जिंदगी बड़ी कश्मकश भरी होती है। कई बार ऐसा होता है जिसमे लड़का अपनी पत्नी को अपने दबाव में रखता है , दबाव में रहते रहते वो अपने पति से ही डरने लगती है उससे कुछ भी बोलने में भी हिचकिचाती है और वो अपने पति से अपने दिल की बात भी नहीं कह पाती है उसे कुछ करने में कहने में डर लगता है। तब शुरू होता है अनकही बातो का सिलसिला।

आप अपनी पत्नी की हर एक बात को समझे वो कभी आपकी माँ से आपको अलग नहीं करना चाहती वो बस प्यार चाहती है जो उसको बचपन से मिलता आया है। उसे उसके दिल की बात पूछे उससे उसका अकेलापन बाँटे वो हर बात पर रोती है इसका मतलब ये नहीं की वो कमजोर है वो आपको अपने दिल की बात भी नहीं बता सकती वो इस बात पर रोती है की जिसके लिए वो अपना सब कुछ छोड़ आई वो ही उसे नहीं समझता। और फिर वो सब बाते अपने दिल में दबा लेती है और चुप रहना शुरू कर देती है और चुप रहते रहते कब वो एक चलती फिरती आत्मा बन जाए उसे भी नहीं पता चलता।

इसीलिए कभी अपनी पत्नी का दिल न दुखाए वो एक त्यागनी है वो आपके लिए ही आपके पास है उसे समझे उससे उसके दर्द बांटे उसे परशान न करे न ही उसे रुलाए। कोशिश करे की वो बात करे बात अनकही न रखे। अनकही बाते बहुत तकलीफ देती है मन ही मन हर पल हर वक़्त वो उन बातो से परेशान होती है।

हम लड़कियां बहुत नाजुक होती है और उससे नाजुक हमारा “दिल” हम प्यार चाहते है मगर जब एक प्यार ही न हमें मिले तो हम क्या करे ?

लड़कियों की जिंदगी भी बड़ी अजीब होती है , लड़कियों के पैदा होते ही बहुत सी रेस्ट्रिक्शन उन पर लगाना शुरू कर देते है। बचपन से ही उनकी ख्वाइशें दबा दी जाती है। उन्हें एडजस्ट कैसे करे ये सिखाना शुरू कर दिया जाता है। उन्हें बस बोझ समझ लिया जाता है।

अनकही बातें :

बचपन से लेकर बुढ़ापे तक लड़की की जिंदगी में बहुत उतर चढ़ाव आते है और इन उतर चढ़ाव से मतलब है पहले वो एक बेटी बनती है बेटी का फ़र्ज़ बहुत ही प्यार से निभाती है और बड़ी होते ही उसकी शादी की तयारी शुरू कर दी जाती है और एक दिन उसकी शादी भी हो जाती है। और वो उन माँ बाप को छोड़ के चली जाती है जिनके साथ वो इतना समय रही, जिसके साथ उसने जिंदगी जी बहुत कुछ सीखा और जहा उसका बचपन बिता वो सब कुछ छोड़ के चली जाती है।बड़ी अजीब होती है लड़कियों की जिंदगी। वो कभी नहीं चाहती की उसकी वजह से उसके परिवार में कोई भी दुखी हो परेशान हो। और फिर उसकी शादी करवा दी जाती है और वो किसी की पत्नी किसी की बहु बनती है।

शादी एक ऐसा बंधन है जिसमे न की लड़का लड़की बंधते है बल्कि दो परिवार आपस में सदा के लिए बंध जाते है। शादी से पहले न जाने कितने सपने संजोती है लड़की अपने होने वाले पति के लिए। न जाने कितनी उम्मीदे उससे रखती है , न जाने कितने ख्वाइशे अपने दिल सजाती है, अपने होने वाले नए माँ पापा से भी उम्मीद लगाती है की वो उसे बहु नहीं बेटी समझे , जैसा प्यार , ख्याल , परवाह उसके अपने माँ पापा रखते है वो भी उसको वैसा ही प्यार दे। और न जाने क्या क्या ख्याल अपने दिलो दिमाग में सजाती है और इन्ही अरमानो के साथ वो शादी करती है।

शादी बाद जो लड़की की जिंदगी में बदलाव आते है वो बहुत अहम और खास होते है। सब कुछ बदल जाता है, लड़की की जिंदगी में। उसे एक नया परिवार नया घर नया माहौल नए लोगो क बिच रहना होता है। उसे सबकी पसंद का ख्याल रखना होता है उससे कोई नाराज़ न हो वो हमेशा यही सोचती रहती है उससे भूल से भी कोई भूल न हो जाए। मगर यह नामुमकिन होता है की कोई भी व्यक्ति हर चीज़ में परफेक्ट हो। गलतिया सबसे होती है मगर उसके लिए उसपे चिल्लाए नहीं उसे समझे उससे बात करे उसे सिखाए , वो आज आई है आपके घर में उसे नए माहौल में ढलने में समय दे।

प्रातिक्रिया दे