साडी

साडी पहनने के अलग-अलग तरीके जिससे आप खूबसूरत नजर आएं

प्रत्येक महिला पारंपरिक भारतीय साडी में सुंदर नजर आती है। साड़ी सुंदरता और प्रतिष्ठा का एक शक्तिशाली प्रतीक है। यह सदियों से एक बहुत लोकप्रिय परिधान रहा है। साड़ी का सबसे पहला प्रमाण इंडस सभ्यता में मिलता है। उत्तर से लेकर दक्षिण तक, पूरब से लेकर पश्चिम तक, साड़ी ने अपनी एक मजबूत उपस्थित दर्ज कराई है। साड़ी किसी भी महिला के व्यक्तित्व को शालीनतापूर्वक परिभाषित करती है। क्या आपको पता है कि आप सुंदर दिखने के लिए साड़ी को कई तरीको से पहन सकती हैं?

आपके लिए यहाँ साडी की कुछ शैलियाँ दी गई हैं।

  • बंगाली साड़ी: एक साधारण तथापि शानदार उत्सवमय आभा के लिए, साडी को बांधने की बंगाली शैली सर्वश्रेष्ठ विकल्पों में से एक है। इस शैली में साडी को दो बार शरीर के चारों ओर लपेटा जाता है और सामने की ओर दो चौड़े चुन्नट बना दिए जाते हैं। एक बड़ा चाबी का गुच्छा पीछे की ओर दोहरे चुन्नट वाले पल्लू को थामता है। इस शैली के लिए कॉटन की साडी सबसे बढ़िया विकल्प है।बंगाली साडी
  • बटरफ्लाई साड़ी: एक पार्टी वाली आभा के लिए, बटरफ्लाई शैली सर्वश्रेष्ठ विकल्पों में से एक है। यह पारंपरिक नीवी शैली का परिष्कृत रूपांतरण है। यहाँ शरीर को पतला दिखाने के लिए चुन्नट वाले पल्लू को बहुत ही पतला रखा जाता है। इस शैली के लिए शिफॉन की साडी सबसे बढ़िया विकल्प है।बटरफ्लाई साडी
  • धोती साड़ी: किसी भी अवसर पर, एक तरोताज़ा आभा के लिए धोती शैली सर्वश्रेष्ठ विकल्पों में से एक है। यह शैली पारंपरिक मराठी शैली वाली साडी से व्युतपन्न हुई है। ये सब प्रकार के शरीर वाली महिलाओं के ऊपर फबती है। यहाँ साडी का निचला हिस्सा, पुरुषों की धोती की तरह लपेटा जाता है। इसके लिए पेटीकोट या स्कर्ट की आवश्यकता नहीं है। यहाँ साडी को सुव्यवस्थित रखने के लिए पिनों का उपयोग ज्यादा किया जाता है। साडी की लंबाई थोड़ी ज्यादा होनी चाहिए। इस शैली के लिए हल्के वजन वाली साडी बढ़िया रहती है।धोती साडी
  • जलपरी साड़ी: ये शानदार जलपरी शैली, शाम की पार्टी के लिए बेहतरीन है। इस शैली में, पारंपरिक शैली को आधुनिकता के साथ सम्मिश्रित किया जाता है। इस शैली में साड़ी का अगला हिस्सा, लंबी स्कर्ट के जैसा प्रतीत होता है। यह शैली शरीर की रचना को बेहतरीन तरीके से प्रदर्शित करती है और नीचे की ओर से झिलमिलाती रहती है। यह सभी प्रकार की बनावट वाली महिलाओं के लिये उपयुक्त है। इसे धारण करना बहुत ही आसान है। इस शैली के लिए चमकीले रंग की जॉर्जेट की साडी सबसे बढ़िया विकल्प है।जलपरी साडी
  • रेट्रो डबल ट्रैप साड़ी: यह शैली खास अवसरों पर, खास आभा के लिए बेहतरीन है। बॉलीवुड की प्रसिद्ध अभिनेत्री मुमताज़ ने ८० के दशक में, इस शैली को बहुत ही लोकप्रिय बना दिया। उन्होंने इस शैली को प्रसिद्ध गीत ‘आजकल तेरे मेरे प्यार के चर्चे’ से प्रसिद्धि दिलाई। इसमें साड़ी को ३ से ४ बार अपने शरीर के चारो ओर लपेटें और इसे आकर्षक और अधिक पतला दिखाने के लिए कुछ परतें बनाएं।रेट्रो डबल ट्रैप साडी

प्रातिक्रिया दे